Coming Up Wed 5:00 PM  AEDT
Coming Up Live in 
Live
Hindi radio

अनिल विश्नोई, जिन्हें वन्य जीव बच्चों से भी प्यारे हैं

A blackbuck at its enclosure at national zoological park in New Delhi, India, 02 November 2008. Source: EPA/ANINDITO MUKHERJEE

मोहब्बत इन्सान को कहीं भी, कभी भी हो सकती। है। जैसे राजस्थान में हनुमानगढ़ के रहने वाले किसान अनिल विश्नोई हो गई है, वन्य जीवों से। वह पिछले तीस सालों से हिरन और अन्य वन्य जीवों का जीवन बचा रहे हैं।

राजस्थान का ये इलाका काले हिरन के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन शिकार होने से उनका अस्तित्व खतरे में आ गया था। राजस्थान का विश्नोई समाज हमेशा से प्रकृति और वन्य जीव प्रेमी रहा है। अनिल भी इसी समाज का हिस्सा हैं और एक कार्यक्रम के बाद इनका वन्य जीवों के प्रति प्यार और बढ़ गया।


मुख्य बातेंः

  • राजस्थान के अनिल विश्नोई ने अपना जीवन वन्य जीवों की सुरक्षा में लगा दिया है।
  • वह सैकड़ों शिकारियों को शिकार से रोक चुके हैं और उन पर केस दर्ज करवा चुके हैं।

सुनिए अनिल विश्नोई की कहानी, उन्हीं की जबानीः

अनिल विश्नोई, जिन्हें वन्य जीव बच्चों से भी प्यारे हैं
00:00 00:00

अनिल ने अकेले अपने दम पर हज़ारों हिरनों की जान बचायी है। उनके लिए छोटे छोटे बांध बना कर पानी पीने की व्यवस्था की है। हालांकि विश्नोई की आर्थिक स्थिति इतनी सुदृढ़ नहीं है लेकिन उन्हें ये हिरन अपने बच्चों से भी प्यारे हैं। 

ये सब काम इतना आसान नहीं था। शिकारी अंधाधुंध शिकार करते थे। अनिल को जैसे ही कोई सूचना मिलती, वह फौरन घटना स्थल पर पहुंच जाते।

A June 18, 2005 file photo of Black Buck antelopes resting in the shade at the zoo in New Delhi, India.
A June 18, 2005 file photo of Black Buck antelopes resting in the shade at the zoo in New Delhi, India.
AP Photo/Gurinder Osan, File

इसमें खतरा भी रहता है। शिकारियों के पास हथियार होते हैं लेकिन अनिल आज तक न डरे, न झुके, बस अपने मिशन पर लगे रहे। वह सैकड़ों शिकारियों के पर केस दर्ज करवा चुके हैं। 

आज हनुमानगढ़ और श्री गंगानगर का इलाका हिरनों के लिए सेफ जोन है। दसियों हज़ार हिरन आपको चौकड़ी करते दिख जाएंगे। लेकिन इन सब के पीछे अनिल विश्नोई का बहुत बड़ा योगदान है। इसीलिए सरकार ने भी उनको मानद वन्य जीव प्रतिपालक बनाया है।


Tune into SBS Hindi at 5 pm every day and follow us on Facebook and Twitter

ऑस्ट्रेलिया में लोगों को एक दूसरे से कम से कम 1.5 मीटर दूर रहना चाहिए। अपने अधिकार क्षेत्र के प्रतिबंधों की जाँच सीमा पर करें।

यदि आपको सर्दी या फ्लू के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो घर पर रहें और अपने डॉक्टर को बुलाकर परीक्षण की व्यवस्था करें या 1800 020 080 पर कोरोनोवायरस हेल्थ इंफॉर्मेशन हॉटलाइन से संपर्क करें।

समाचार और सूचना sbs.com.au/coronavirus पर 63 भाषाओं में उपलब्ध है। कृपया अपने राज्य या क्षेत्र के लिए प्रासंगिक दिशानिर्देश देखें: NSW, विक्टोरिया, क्वींसलैंड, वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया, साउथ ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी क्षेत्र, ऑस्ट्रेलियन कैपिटल टेरेटरी, तस्मानिया। 

Coming up next

# TITLE RELEASED TIME MORE
अनिल विश्नोई, जिन्हें वन्य जीव बच्चों से भी प्यारे हैं 30/12/2020 07:00 ...
SBS Hindi News 30 November 2021: International travel paused in response to COVID-19 Omicron strain 30/11/2021 12:36 ...
Worried about COVID-19 vaccination for your child under 12? 30/11/2021 00:17 ...
कहानियों के माध्यम से स्वतंत्रता सेनानियों को सलाम 30/11/2021 14:53 ...
'Heartbroken': This couple was looking to meet after two years 30/11/2021 09:28 ...
SBS Hindi News 29 November 2021:The federal government considers expanding the COVID-19 booster campaign in response to Omicron 29/11/2021 11:03 ...
भारत के समाचार हिन्दी में 29/11/2021 11:07 ...
'More women seeking hair loss treatment as awareness increases,' says expert 29/11/2021 08:21 ...
SBS Hindi News 28 November 2021: Omicron COVID-19 variant puts Australia on alert 28/11/2021 12:30 ...
SBS Hindi News 27 November 2021: New variant of COVID-19, Omicron, designated as one 'of concern' 27/11/2021 12:41 ...
View More