Coming Up Thu 5:00 PM  AEST
Coming Up Live in 
Live
Hindi radio
SBS हिन्दी

मिर्ज़ा ग़ालिब की शायरी आज भी छू लेती है दिलों को

Mirza Ghalib born on 27 December 1797. Source: Public domain

उर्दू के मशहूर शायर मिर्ज़ा ग़ालिब का जन्म 27 दिसंबर 1797 को उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में हुआ था। ग़ालिब एक लिटरेरी जीनियस तो थे ही इसके अलावा वह एक बहुत अच्छे व्यंगकार भी थे। उनकी लिखी शायरी जैसे कि ‘इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ निकम्मा कर दिया, वरना हम भी आदमी थे काम के' और ‘दिल-ए-नादां तुझे हुआ क्या है, आख़िर इस दर्द की दवा क्या है’, आज भी लोगों के दिलों को छू जाती है।

ऊपर तस्वीर में दिए ऑडियो आइकन पर क्लिक कर के हिन्दी में पॉडकास्ट सुनें।

हर दिन शाम 5 बजे एसबीएस हिंदी का कार्यक्रम सुनें और हमें  Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

Coming up next

# TITLE RELEASED TIME MORE
मिर्ज़ा ग़ालिब की शायरी आज भी छू लेती है दिलों को 29/12/2021 10:12 ...
कौन सा हाई स्कूल आपके बच्चे के लिए सबसे उपयुक्त है? 22/05/2022 07:29 ...
एंथनी एल्बनीज़ी होंगे ऑस्ट्रेलिया के इक्कतीसवें प्रधानमंत्री 22/05/2022 07:20 ...
तुमको न भूल पाएंगे: मेहबूब खान 20/05/2022 07:04 ...
फेडरल चुनाव 2022: जीवन यापन की लागत बना एक बड़ा चुनावी मुद्दा 19/05/2022 06:45 ...
एसबीएस बॉलीवुड टाइम: 19 मई 2022 19/05/2022 08:58 ...
हैदराबाद के लाड़ बाज़ार को आज भी खनकाती है पारम्परिक लॉक की चूड़ियाँ 18/05/2022 06:28 ...
फेडरल चुनाव: गठबंधन की सुपरन्युएशन योजना आलोचना के घेरे में 17/05/2022 08:05 ...
फेडरल चुनाव: ऑस्ट्रेलिया में सेनेट कैसे काम करती है? 17/05/2022 04:00 ...
फेडरल चुनाव: संसद का निचला सदन कैसे काम करता है? 17/05/2022 03:08 ...
View More