Coming Up Wed 5:00 PM  AEDT
Coming Up Live in 
Live
Hindi radio

सेटलमेंट गाइड : जानिए, विदेश से बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया

Australia currently has active adoption arrangements with 13 countries. Source: Getty Images/ 10'000 Hours

विदेशों से बच्चा गोद लेने की इच्छा रखने वालों के लिए, ऑस्ट्रेलिया के कई देशों के साथ अंतर्देशीय गोद लेने के समझौते हैं, साथ ही साथ प्रवासी गोद लेने के कार्यक्रम से भी बच्चा गोद लिया जा सकता है।

ऑस्ट्रेलिया में 13 देशों के साथ सक्रिय बच्चा गोद लेने की व्यवस्था है। आप एक आधिकारिक ऑस्ट्रेलियाई अंतर्देशीय गोद लेने के कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को गोद ले सकते हैं।


 मुख्य बातें :

2019-20 में 334 बच्चे गोद लिए गए जिनमें से केवल 37 अंतर्देशीय बच्चे थे।
प्रवासी गोद लेने के कार्यक्रम में माता-पिता को कम से कम 12 महीने विदेश में रहने की आवश्यकता होती है।
2019 में, भारत-ऑस्ट्रेलिया अंतरदेश गोद लेने का कार्यक्रम फिर से शुरू किया गया था, लेकिन सिर्फ क्वींसलैंड और नॉर्थर्न टेरेटरी में।


अगर कुछ आंकड़ों पर नज़र डालें तो 2019-20 अडॉप्शन ऑस्ट्रेलिया रिपोर्ट से पता चलता है कि बीते साल 334 बच्चों को गोद लिया गया और इनमें से 37 बच्चे देश के बाहर से गोद लिए गए।  आपको बता दें कि लगातार पंद्रह साल से देश के बाहर से गोद लिए बच्चों की संख्या में गिरावट आ रही है।  

प्रक्रिया कैसे शुरू करें?

गोद लेने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए, आपको अपने राज्य और क्षेत्र के केंद्रीय प्राधिकरण या एसटीसीए से संपर्क करना होता है, जो आप से रुचि की अभिव्यक्ति जिसे एक्सप्रेशन ऑफ़ इंटरेस्ट भी कहा जाता है, उसे भरने या आपकी पात्रता के पूर्व-मूल्यांकन के लिए एक प्रश्नावली को पूरा करने के लिए कह सकता है।

आपका एसटीसीए आपको गोद लेने वाले निर्धारक के साथ साक्षात्कार में भाग लेने और स्वास्थ्य, पुलिस और रेफरी जांच करने के लिए भी कह सकता है।

Man holding adopted daughter in kitchen
Australia currently has active adoption arrangements with 13 countries.
Getty Images/ 10'000 Hours

सिंगल पेरेंट देब ब्रूक ने चीन से एक बच्चे को गोद लेने के लिए आवेदन किया था। उन्होनें  इसके लिए एक लम्बा इंतज़ार करना पड़ा और लगभग एक दशक बाद वो सफलता पूर्वक बच्चा गोद ले पाईं। अब वह दूसरों की मदद के लिए फेसबुक पर एक सहायता समूह चलती हैं, जिसका नाम एडॉप्शन ऑस्ट्रेलिया है।

मैंने सुना है कि कुछ सालों में भी लोग बच्चा गोद लेने में सफल रहे हैं, लेकिन ऐसा बहुत कम हो पाता है 

बीते सालों में, अंतर्देशीय गोद लेने का प्रतीक्षा समय बढ़ गया है क्योंकि कई भागीदार देश स्थानीय परिवारों को प्राथमिकता देते हैं। देब ब्रूक का कहना है कि इस प्रक्रिया में सबसे लंबा समय आपके आवेदन को स्वीकार करने में लगता है।

Dad teaching his daughter to dance
The most prolonged waiting period is after your application is approved while you wait for an overseas country to match you with a child.

आपको बता दें कि हर राज्य और क्षेत्र में माता-पिता के लिए आवश्यकताओं का एक अलग सेट होता है, और उन्हें गोद लेने वाले विदेशी देश द्वारा निर्धारित पात्रता आवश्यकताओं को भी पूरा करना होता है।

अडॉप्शन ऑस्ट्रेलिया 2019-20 की रिपोर्ट से पता चलता है कि बच्चा गोद लेने वाले अधिकतर माता-पिता 40 से 44 साल के हैं।

यहाँ यह जानकारी देना ज़रूरी है कि एक बार जब बच्चा गोद ले लिया जाता है या गोद लेने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है, तो आप अडॉप्शन वीज़ा सबक्लास 102 के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Mom and her special needs son play in the living room.
Children with special needs may be denied a visa if there is a likelihood that their condition will cause a significant cost to the community.
Getty Images/SDI Productions

इमिग्रेशन एडवाइस एंड राइट्स सेंटर के प्रिंसिपल सॉलिसिटर, अली मोजतहेदी का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में आने वाले सभी बच्चों को स्वास्थ्य आवश्यकताओं को पूरा करना चाहिए। 

यदि बच्चा स्वास्थ्य मानदंडों को पूरा करने में विफल रहता है और उसकी कोई विशेष ज़रूरतें हैं, तो कुछ आवश्यकताओं को माफ भी किया जा सकता है

ऑस्ट्रेलियाई नागरिक या विदेशों में रहने वाले स्थायी निवासी किसी विदेशी एजेंसी या सरकारी प्राधिकरण के माध्यम से भी बच्चा गोद ले सकते हैं।
इस विकल्प के साथ ऑस्ट्रेलियाई सरकार केवल वीज़ा आवेदन के समय दख़ल देती है।

Indian girl playing with toys
In Australia, all overseas adoptions are only facilitated if the principles and standards of the Hague Convention are met.
Getty Images/Mayur Kakade

सिडनी की रहने वाली श्रीनी लखानी, भारत से एक बच्चे को गोद लेने की कोशिश कर रही हैं।

हम भारत में अपने रिश्तेदारों से एक बच्चे को गोद लेना चाहते थे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में नियमों के कारण यह प्रक्रिया नहीं चल पाई

मोजतहेदी बताते हैं कि 2010 में, फैडरल सरकार ने बाल-तस्करी की चिंताओं के कारण भारत के साथ अंतर-देश गोद लेने के कार्यक्रम को निलंबित कर दिया।

इमिग्रेशन एडवाइस एंड राइट्स सेंटर के प्रिंसिपल सॉलिसिटर, अली मोजतहेदी का कहना है कि 2019 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत-ऑस्ट्रेलिया इंटरकंट्री एडॉप्शन प्रोग्राम को फिर से सक्रिय किया गया, लेकिन यह सभी राज्यों में उपलब्ध नहीं है।

यह केवल क्वींसलैंड और नॉर्थर्न टेरेटरी के लिए ही उपलब्ध है


ऑस्ट्रेलिया में, सभी विदेशी गोद लेने की प्रक्रिया को समझने के लिए Hague Convention on Protection of Children and Cooperation in Respect of Intercountry Adoption और Intercountry Adoption Australia. पर जाएं।


Coming up next

# TITLE RELEASED TIME MORE
सेटलमेंट गाइड : जानिए, विदेश से बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया 14/06/2021 07:55 ...
ACCC raises 'significant concerns' about price hike in RAT kits 19/01/2022 05:23 ...
SBS Hindi News 18 January 2022: Hefty fines over false reporting of positive rapid antigen test results 18/01/2022 11:00 ...
Remembering Harivansh Rai Bachchan on his death anniversary 18/01/2022 08:00 ...
अलविदा कथक सम्राट पंडित बिरजू महाराज 18/01/2022 08:08 ...
SBS Hindi News 17 January 2022: Djokovic returns home as court quashes his appeal against visa rejection 17/01/2022 13:27 ...
भारत के समाचार हिन्दी में 17/01/2022 10:09 ...
Australia's Deputy CMO says vaccines are working, urges people to take booster and not have 'fatalistic approach' 17/01/2022 26:13 ...
SBS Hindi News 16 January 2022: Tsunami alert issued for eastern coast of Australia 16/01/2022 12:43 ...
SBS Hindi News 15 January 2022: The immigration minister details his reasons for cancelling Novak Djokovic's visa 15/01/2022 08:33 ...
View More