Coming Up Tue 5:00 PM  AEST
Coming Up Live in 
Live
Hindi radio
SBS हिन्दी

सेटलमेंट गाइड: ऑस्ट्रेलिया में एक द्विभाषी बच्चे की परवरिश: लाभ, तथ्य और सुझाव

Family at home Source: Getty Image / kate_sept2004

किसी भाषा को सीखना अक्सर उसकी विरासत और संस्कृति को जीवित रखने से जुड़ा होता है। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि हर परिवार के लिए एक सेट मॉडल नहीं होता है। क्या आपका बच्चा ऑस्ट्रेलिया में द्विभाषी हो रहा है तो आपको यह सब जानने की ज़रूरत है।

सबसे हालिया जनगणना के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में भाषाई विविधता एक तथ्य है, जिसमें 5 में से 1 से अधिक परिवार अंग्रेजी के अलावा अन्य भाषा बोलते हैं।हालांकि, एक द्विभाषी बच्चे की परवरिश कई चुनौतियों के साथ आती है, विशेषज्ञों का कहना है कि द्विभाषी होने के, उन परेशानियों से अधिक हैं।


प्रमुख बातें

  • द्विभाषी के लाभ संज्ञानात्मक से लेकर जीवन कौशल और विरासत संस्कृति से जुड़े हुए हैं।
  • भाषा-संस्कृति परिवारों और जातीय समूहों के बीच भिन्न हो सकती है।
  • स्कूल, परिवार और सामुदायिक नेटवर्क द्विभाषी शिक्षा के लिए हो सकते हैं, लेकिन आपकी उम्मीदें बच्चे की जरूरतों के अनुसार होनी चाहिये।

मेलबर्न विश्वविद्यालय के भाषाविद् प्रोफेसर जॉन हाजेक के अनुसार, द्विभाषी बच्चों का अकादमिक प्रदर्शन बेहतर होता है। उनका कहना है कि इसके लाभ एक बच्चे के व्यक्तिगत विकास में मदद करते हैं और इससे उन्हें सांस्कृतिक विभिन्नता को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है।

Child drawing Figures
Child drawing
Getty Image / Catherine Falls Commercial

"शोध से पता चलता है कि चार/पांच साल के छोटे बच्चे, जो दूसरी भाषा जानते या सीखते हैं, वह उन लोगों को समझने की अधिक कोशिश करते हैं, जिनके साथ वे बातचीत कर रहे हैं, या उनके आसपास के लोग क्या चाहते हैं ... और इससे सामान्य रूप से,  समाज को निश्चित रूप से बहुत लाभ होता है।"

भाषा-संस्कृति लिंक

प्रोफ़ेसर हाजेक कहते हैं कि सांस्कृतिक ज्ञान और भाषा कई समुदायों से अटूट रूप से जुड़े हुए हैं, और द्विभाषी बच्चों का अपनी प्रवासी विरासत के साथ बेहतर संबंध होता है।

दूसरी और तीसरी पीढ़ी की कई  लोगों की ऐसी सफलता की कहानियाँ हैं जो पारिवारिक भाषा, विरासत की भाषा, साथ ही साथ संस्कृति को बहुत सफलतापूर्वक सीखने में सक्षम रहे हैं।

दूसरी पीढ़ी के ग्रीक ऑस्ट्रेलियाई, वासो ज़ांगलिस, 80 के दशक में एक पायलट कार्यक्रम के माध्यम से औपचारिक स्कूली शिक्षा में द्विभाषी शिक्षा के संपर्क में आने वाले ऑस्ट्रेलिया के पहले बच्चों में से एक थी।

उस समय वह ग्रीक भाषा में "कक्षा में सबसे कमजोर छात्र"  थी और इसे याद करते हुए, वह कहती हैं कि उनके माता-पिता ने उन्हें उस कार्यक्रम में शामिल करने के लिए "महत्वपूर्ण" समझा। 

मुझे लगता है कि मैं  बहुत अधिक समृद्ध और सुसंस्कृत हूँ,  और बहुत अधिक अपनी संस्कृति से जूड़ी हूँ  अपेक्षाकृत अपने भाई के, जो भाषा नहीं बोलता है, और संस्कृति से इतना जुड़ा नहीं है ।

प्रोफेसर हाजेक के अनुभव से यह भी पता चलता है कि कुछ परिवारों में विरासत की भाषा बच्चों को देना एक उपहार के रूप में देखा जाता है।

Father helping his son with schoolwork
Father helping his son with schoolwork
Getty Image / Marko Geber

"एक भाषाविद् के रूप में और कुछ जातीय समुदायों से जुड़े होने से भी, मेरे लिए भाषा वास्तव में महत्वपूर्ण हिस्सा है कि मैं कौन हूँ।  साथ ही कुछ ऐसा जो मैं अपने बच्चों के साथ साझा करने में सक्षम होना चाहता हूं, और जो मेरे बच्चों के ग्रेंड पेरेन्टस् भी चाहते थे ।"

लेकिन वह बताते हैं कि भाषा और संस्कृति के बीच घनिष्ठ संबंधों को हर परिवार या समुदाय के लिए हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए।

यह वास्तव में समुदायों और व्यक्तियों पर निर्भर करता है कि उनके लिए क्या महत्वपूर्ण है।  

विक्टोरिया में, 12 सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में  निर्दिष्ट द्विभाषी कार्यक्रम हैं। 

स्टेनली वांग,  एबॉट्सफोर्ड प्राइमरी के प्रिंसिपल हैं जो राज्य का सबसे पुराना चीनी द्विभाषी कार्यक्रम चलाता है।श्री वांग भाषा से पहचान और सहिष्णुता के लाभ से परे द्विभाषी शिक्षा के दूसरे लाभों की भी बात करते हैं।

Asian girl student video conference e-learning with teacher and classmates on computer in living room at home. Homeschooling and distance learning ,online ,education and internet.
Student video conference
Getty Image / Prasit photo

केवल यह तथ्य कि इस माहौल में उनकी समान स्थिति है, और उन्हें लगातार दो तरह के परिवेश के बीच नेविगेट करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ... यही बच्चे की शिक्षा का समर्थन करने का मुख्य तरीका है जिसके द्वारा हम चाहते हैं कि वे अपनी संस्कृति से जुड़े रहें।

 बच्चे की शिक्षा का समर्थन करने के तरीके

स्कूल के बाहर, परिवार का माहौल बच्चे के द्विभाषी होने में समर्थन का एक प्रमुख स्रोत हो सकता है।

प्रोफेसर हाजेक कहते हैं, ”और अगर आपको अपनी भाषा को बनाए रखने और इसे बच्चों तक पहुंचाने का अवसर नहीं मिला है, तो भी आपके आस-पास अन्य लोग हैं जो सहायता करने में सक्षम हैं। इसलिए, दादा-दादी , भाषा और संस्कृति के रखरखाव में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं।"

Young girl helping her grandmother while working in the kitchen
Young girl helping her grandmother while working in the kitchen
Getty Image / Mayur Kakade

उनका सुझाव है कि माता-पिता अपने क्षेत्र में भाषा समर्थन संसाधनों का भी उपयोग कर सकते हैं, जिसमें पुस्तकालय सामग्री, सामुदायिक समूह और सामुदायिक भाषा स्कूल शामिल हो सकते हैं।

सुश्री ज़ांगलिस कहती हैं कि वह भाग्यशाली हैं कि उनके दो स्कूली उम्र के बच्चों के पास उनकी भाषा सीखने के लिए एक स्थापित नेटवर्क है।

और वह देश के नवागंतुकों को वही व्यावहारिक कदम उठाने की सलाह देती हैं।

यदि आप एक संगठित नव-आगमन प्रवासी समूह हैं, एक भाषा विशिष्ट संदर्भ के साथ, स्कूलों में द्विभाषी कार्यक्रम स्थापित करने के लिए कहना संभव है।

वह कहती हैं कि छोटे पैमाने की पहल जैसे कि पुस्तकालय कहानी-समय, आदि से स्थापित करना आसान है।

"हम सब माता-पिता के ग्रुप ने एक पुस्तकालय का दरवाजा खटखटाया और कहा ... हम 20 माता-पिता हैं जो कार्यक्रम का समर्थन करेंगे और आगे आएंगे, और बस, थोड़ी बातचीत और परामर्श के बाद ... वह सम्भव हो गया और चल रहा है।”

Cute schoolgirl smiling & balancing stack of books on the head at library
Experts say keeping expectations realistic is key in bilngual education
Getty Image/Klaus Vedfelt

आपको चाहे जो भी समर्थन मिले, श्री वांग बच्चे की ज़रूरतों के लिए भाषा शिक्षा को उपयुक्त बनाने की सलाह देते हैं ताकि भाषा और संस्कृति से जुड़ाव को बोझ के रूप में नहीं बल्कि उनकी परवरिश का एक स्वाभाविक हिस्सा महसूस किया जाए।

एक महत्वपूर्ण बात है जिसे माता-पिता और शिक्षकों को पहचानने समझने की आवश्यकता है … यदि आपका बच्चा ऑस्ट्रेलिया में बड़ा हो रहा है, तो वह जिस भाषा को सीखने जा रहा हैं, वह ऑस्ट्रेलियाई वास्तविकता के उद्देश्य के अनुकूल होनी चाहिए।

प्रोफेसर हाजेक के लिए, द्विभाषी शिक्षा अंततः अपेक्षाओं को यथार्थवादी बनाए रखने के लिए है।

"क्या आपको किसी भाषा का वक्ता बनने के लिए उसका पूर्ण वक्ता होना आवश्यक है? और जवाब है, ज़ाहिर है, नहीं। हमें यह समझना होगा कि ऑस्ट्रेलिया में बड़े हो रहे बच्चों की, निश्चित रूप से उनकी सबसे मजबूत भाषा अंग्रेजी है। और यह हमेशा अंग्रेजी होने वाली है, यह पूरी तरह से सामान्य है।"

द्विभाषी बच्चों की परवरिश कैसे करें, इस पर कोई पुस्तिका नहीं है। माता-पिता द्विभाषी बच्चों की परवरिश के बारे में कई सामान्य प्रश्न और चिंताएँ साझा करते हैं। SBS पॉडकास्ट My Bilingual Family  इनमें से कुछ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों के उत्तर खोजने के बारे में है। SBS रेडियो ऐप में, अपने पसंदीदा पॉडकास्ट ऐप में, या ऑनलाइन sbs.com.au/mybilingualfamily पर सुनें

Coming up next

# TITLE RELEASED TIME MORE
सेटलमेंट गाइड: ऑस्ट्रेलिया में एक द्विभाषी बच्चे की परवरिश: लाभ, तथ्य और सुझाव 20/02/2022 09:33 ...
इस साल ऑस्ट्रेलिया में 1 जुलाई से टैक्स में क्या बदलाव होने वालें हैं? 01/07/2022 07:31 ...
तुमको न भूल पाएंगे:राजेंद्र कृष्ण 01/07/2022 07:18 ...
एसबीएस बॉलीवुड टाइम: 30 जून 2022 30/06/2022 09:16 ...
लखनऊ का चिड़ियाघर बना भारत का सबसे पहला ब्लाइंड फ्रेंडली ज़ू 29/06/2022 08:14 ...
तुमको न भूल पाएंगे: श्यामा 24/06/2022 06:52 ...
एसबीएस बॉलीवुड टाइम: 23 जून 2022 23/06/2022 08:49 ...
मिलिए रामदास से जो गुजरात में बीमार जूतों का अस्पताल चला रहें है 21/06/2022 05:24 ...
तुमको न भूल पाएंगे: नसीम बानो 20/06/2022 07:00 ...
एसबीएस बॉलीवुड टाइम: 17 जून 2022 17/06/2022 09:00 ...
View More